Home |Contact | A - Z Index


ताड़केश्वर धाम में आपका स्वागत है

ताड़केश्वर धाम लैंसडौन से 36 किमी. और 1800 मीटर की ऊचाई पर एक मंदिर है। यह मंदिर भगवान शिव के नाम से जाना जाता है। देवदार के वृक्षो से यह मंदिर घिरा हुआ है जो कि प्रकति की सुंदरता के लिये बहुत ही अच्छा है । शिवरात्रि के दिन मन्दिर मे विशेष पूजा का आयोजन किया जाता है जो कि मंदिर समिति के द्वारा होता है। यहां ठहरने के लिए धर्मशाला बनाये गए है। और ठहरने की भी उचित व्यवस्था है। ताड़केश्वर धाम मन्दिर 5 किमी. की चौड़ाई मे फैला हुआ है और आपको देवदार के सुंगधित वृक्ष भी आपको 5 किमी. के ही अंतर्गत पाये जाएंगे ये देवदार के वन माँ पार्वती ने भगवान शिव के लिए स्वयं रचा था कृपा करके इन वृक्षो को ना तोड़े और ना ही मंदिर के पर्यावरण को गंदा करे । आपको मंदिर मे आपको त्रिशूल और चिमटा के देवदार वृक्ष भी पाये जाएंगे ।


भगवान शिव से संदेश
" प्रभु ताड़केश्वर ने अपने सपनों में अपने भक्तो से कहा था कि यह मंदिर मेरा घर है और यह खूबसूरत देवदार वन मेरा बगीचा है।" लोग मुझे भरपूर मात्रा में खुशी के साथ पूजते है और यह यात्रा करने के लिए बहुत सुन्दर जगह है

~ भगवान शिव


ताड़केश्वर महादेव मंदिर कैसे पहुँचें


ताड़केश्वर महादेव मंदिर लैंसडौन से 36 किमी. की दूरी पर स्थित है और गुन्दलखेत गाँव से लैंसडौन तक टेक्सी और बस रोज़ाना सफर करती है। गुन्दलखेत गाँव से मंदिर 1 किमी. की दूरी पर है ये सफर आसानी से पैदल तय किया जा सकता है। निकटतम रेल (कोटद्वार तक रेलवे सुविधा और जॉली ग्रांट तक हवाई सुविधा उपलब्ध है )

सड़क मार्ग => बसें => टैक्सी => कारें => बाइक




ताड़केश्वर महादेव प्रार्थना के समय


दर्शन का समय

गर्मी के मौसम में सुबह 5am- 7pm.

सर्दियों के मौसम में सुबह 6:30am-5pm.

सबसे अच्छा समय के लिए यात्रा

मार्च से अगस्त तक








Designed By - Anoop Lakhera